Bollywood Latest

बर्थडे स्पेशल : जब अपने बॉलीवुड डेब्यू से पहले ही विलेन बन गए थे विवादित ‘हीरो’ सूरज पंचोली….

आज बॉलीवुड में डेब्यू कर चुके सूरज पंचोली का बर्थडे है। सूरज पंचोली को हर कोई अच्छे से जानता होगा क्योंकि लोग उन्हें उनकी फिल्म से कम बल्कि उनसे जुड़े विवादों की वजह से ज्यादा जानते हैं। सूरज पंचोली एक मात्र ऐसे एक्टर हैं जो बॉलीवुड डेब्यू से पहले ही विलेन बन गए थे। सूरज पंचोली आदित्य पंचोली और जरीना वहाब के बेटे हैं।

सूरज ने 2010 में आई संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गुजारिश’ में उन्हें असिस्ट किया था। इस फिल्म में सूरज ने जब पहली बार जब ऐश्वर्या को ऐक्टिंग करते हुए देखा, तब ही ठान लिया था कि वो एक्टर ही बनेंगे। सूरज बॉलीवुड में आने के लिए पूरा मन बना चुका थे। वो इसके लिए तैयारी भी कर रहे थे। सूरज भी बाकी बॉलीवुड स्टार्स की तरह बॉलीवुड में डेब्यू कर अपनी पहचान बनाना चाहते थे। मगर सूरज पंचोली के साथ कुछ ऐसा हुआ जो आजतक किसी भी न्यू कमर के साथ पहले नहीं हुआ था।

दरअसल बॉलीवुड में डेब्यू करने से पहले ही सूरज पंचोली इतने बड़े विवाद में फंस गए कि हीरो बनना तो दूर की बात वो एक झटके में ही विलेन बन गए। फिल्मों में आने से पहले ही सूरज का नाम एक्ट्रेस जिया खान के साथ जुड़ा गया। उम्र में 5 साल बड़ी जिया के साथ सूरज का प्यार इस कदर परवान चढ़ा कि दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे। 10 महीने के रिलेशनशिप के बाद 3 जून 2013 को एक दिन जिया ने अपने घर में फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली। जिया की मौत के लिए उनकी मां ने सूरज को जिम्मेदार ठहराया, और इस तरह लोगों ने सूरज पंचोली को उनकी किसी फ़िल्म की वजह से नहीं बल्कि जिया के सुसाइड केस की वजह से जाना।

जिया के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ, जिसमें जिया ने सूरज को जिम्मेदार ठराया था। जिसके बाद पुलिस ने सूरज के खिलाफ मामला दर्ज किया और सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि बाद में सूरज को बेल मिल गई पर लोगों के दिलों में सूरज को लेकर नफरत ख़त्म नहीं हुई। इसी बीच बेल मिलने के बाद सूरज ने निखिल आडवाणी की फिल्म ‘हीरो’ से बॉलीवुड में कदम रखा। फिल्म में सूरज के साथ सुनील शेट्टी की बेटी अथिया शेट्टी ने भी डेब्यू किया था। ‘हीरो’ बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई, पर इस फिल्म के लिए सूरज को बेस्ट मेल डेब्यू एक्टर का अवॉर्ड मिल गया। ‘हीरो’ के बाद 2 साल तक सूरज को कोई काम नहीं मिला है। बॉलीवुड में अपना सिक्का ज़माने के लिए उन्हें अभी बहुत मेहनत करनी पड़ेगी।