Latest Politics

कांग्रेस के एक नेता ने ही राहुल गाँधी को व्हाट्सप्प ग्रुप में कह दिया ‘पप्पू’

कांग्रेस के उपाध्यक्ष  राहुल गाँधी को अक्सर ही सोशल मीडिया पर पप्पू नाम से ट्रोल किया जाता है। अब लगता है कि उनकी पार्टी के कार्यकर्त्ता भी उनके इस नाम को सीरियस लेने लगे हैं तभी तो उन्हीं के पार्टी के नेता ने राहुल गाँधी की तारीफ की लेकिन साथ ही उन्हें पप्पू कह दिया। इसके बाद मेरठ जिला अध्यक्ष को उनके पद से हटा दिया गया है।

दरअसल, कांग्रेस पार्टी के मेरठ के जिलाध्यक्ष विनय प्रधान ने एक व्हॉट्सऐप ग्रुप में मैसेज किया जिसमें उन्होंने राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा, ‘राहुल गांधी जिसे देश का एक हिस्सा पप्पू के नाम से भी जानता है। आज आप बताएं कि क्या पप्पू ने कभी महंगी गाड़ियों का शौक पाला? जबकि वो पाल सकते थे। कभी अंबानी, अडानी, माल्या की पार्टी में शामिल नहीं हुआ न, जबकि शामिल हो सकते थे। पप्पू ने कभी शान–शौकत का प्रदर्शन किया? नहीं परंतु कर सकता था। पप्पू मंत्री और प्रधानमंत्री भी बन सकता था पर बना? नहीं। जबकि मनमोहन सिंह तो उनको पीएम बनाने का इशारा कर चुके थे। पप्पू से पूरे दस साल अंबानी, अडानी मिलना चाहते रहे। 2004 से 2014 तक सरकार रही और पप्पू के एक इशारे पर सरकार के मंत्री उनका काम कर सकते थे लेकिन पप्पू ने अंबानी, अडानी को 5 मिनट का समय भी नहीं दिया। क्योंकि वो पप्पू था जानता था कि ये सरकार से केवल बिजनेस करेंगे, गरीबों का खून चूसेंगे। वो अटकते हैं धारा प्रवाह नहीं बोल पाते, संघ इसीलिए पप्पू बनाने के मिशन में लग गया परन्तु हिंदी में धारा प्रवाह भाषण देकर झूठ बोलने से बेहतर ईमानदारी से जनता के लिए संघर्ष करना है।’

ये मैसेज कांग्रेस पार्टी के कई व्हाट्सप्प ग्रुप में फैलने लगा और ये मैसेज वायरल हो गया। इसपर विपक्षी दलों ने मैसेज पर चुटकी भी ली। बता दें कि, जैसे ही प्रदेशाध्यक्ष राजबब्बर को पता चला उन्होंने इस मामले में विनय प्रधान के खिलाफ कार्यवाई की मांग की जिसके बाद विनय प्रधान को पार्टी के जिलाध्यक्ष पद समेत सभी पदों से हटा दिया गया और पार्टी से भी सस्पेंड कर दिया गया।