Latest Sports

रामचंद्र गुहा का लेटर बम, टीम इंडिया के मैनेजमेंट समेत सीनियर खिलाड़ियों पर लगाया आरोप

बीसीसीआई की प्रशासनिक समिति सीओए से इस्तीफा देने वाले रामचंद्र गुहा का एक पत्र सामने आया है जिसमें उन्होंने टीम इंडिया के मैनेजमेंट समेत सीनियर खिलाड़ी एमएस धोनी, राहुल द्रविड़ और सुनील गावस्कर पर कई आरोप लगाए हैं। पहले तो गुहा ने अपने इस्तीफे के पीछे की वजह को निजी कारण बताया लेकिन अब तस्वीर कुछ और ही बयां कर रही है.
गुहा ने बीसीसीआई पर आरोप लगाया कि सिर्फ बड़े खिलाड़ियों को महत्व दिया जाता है यहां तक कि उनके लिए नियमों की अनदेखी भी की जाती है. गुहा ने लिखा है कि राष्ट्रीय टीम के कोच आईपीएल के लिए असली काम को नजरअंदाज कर रहे हैं जो सही नहीं है. गुहा ने जो पत्र बीसीसीआई को लिखा है उसमें कारण बताये हैं.

एक नज़र गुहा की चिट्टी में लगाए गए आरोपों पर-

-बीसीसीआई में हितों का टकराव बरकरार, टीम इंडिया के अधिकारी आईपीएल की टीमों के लिए क्यों काम कर रहे हैं?
-बीसीसीआई के कमेंटेटर प्लेयर एजेंट भी हैं. सुनील गावस्कर अपनी कंपनी चलाते हुए कमेंट्री भी करते हैं और धोनी कप्तान रहते हुए अपनी एजेंसी भी चला रहे थे.
-बीसीसीआई सुपरस्टार्स की चमक के आगे झुक जाती है, धोनी को A कॉन्ट्रैक्ट दिया गया जबकि वो टेस्ट मैच से संन्यास ले चुके हैं.
-अनिल कुंबले के कॉन्ट्रैक्ट को गलत तरीके से हैंडल किया गया, टीम की सफलता का श्रेय कोच को भी मिलना चाहिए.
-घरेलू क्रिकेट के खिलाड़ियों की सैलरी में सुधार हो, शिकायतों का अंबार लगा है.
-अयोग्य करार दिए गए लोग बोर्ड की मीटिंग्स और फैसलों में दखलअंदाजी करते रहे जिसकी वजह से आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी में भारत के न खेलने की खबरें आने लगीं।
-कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स में पुराने खिलाड़ियों को भी जगह मिलनी चाहिए थी, मैंने कुछ का सुझाव दिया था लेकिन बात नहीं बनी.
-मेरी जगह किसी अनुभवी क्रिकेटर को कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स में रखा जाए.