Khabron se Hatkar Latest

इतनी तरह से निकलते हैं शरीर से प्राण …..

मौत एक ऐसी सच्चाई है, जिसे कोई झुठला नहीं सकता। एक न एक दिन मौत सभी को आनी है। पर आख़िर ये मौत है क्या ? आखिर क्या है मौत का राज? क्यों होती है किसी की मौत ? ये वो सवाल है जो मानव मस्तिष्क को हमेशा परेशान करते आए हैं।
आज हम आपको मौत से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं जो शायद अब तक आप नहीं जानते होंगे और जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे।
मौत तीन प्रकार से होती है- भौतिक, मानसिक तथा आध्यात्मिक।
किसी दुर्घटना या बीमारी से मौत होना भौतिक कारण की श्रेणी में आता है। इस समय भौतिक तरंग अचानक मानसिक तरंगों का साथ छोड़ देती है और शरीर प्राण त्याग देता है।
जब अचानक किसी ऐसी घटना-दुर्घटना के बारे में सुनकर, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती, मौत होती है तो ऐसे समय में भी भौतिक तरंगें मानसिक तरंगों से अलग हो जाती है और व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। यह मृत्यु का मानसिक कारण है।
मौत का तीसरा कारण आध्यात्मिक है। आध्यात्मिक साधना में मानसिक तरंग का प्रवाह जब आध्यात्मिक प्रवाह में समा जाता है, तब व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है ऋषि मुनियों ने इसे महामृत्यु कहा है। धर्म ग्रंथों के अनुसार महामृत्यु के बाद नया जन्म नहीं होता और आत्मा जीवन-मरण के बंधन से मुक्त हो जाती है।