Uncategorized

जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने को लेकर आंदोलन छेड़ेगी अखिल भारतीय संत परिषद

आज अखिल भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय संयोजक यति नरसिंहानन्द सरस्वती जी महाराज ने एक प्रेस वार्ता के माध्यम से पूरे विश्व के सभी छोटे बड़े हिन्दू संगठनों से एक जुट होकर मोदी सरकार को चीन से भी कठोर जनसँख्या नियंत्रण कानून बनाने के लिये आह्वान किया। यति नरसिंहानन्द सरस्वती ने प्रेस वार्ता में कहा कि पिछले तीन वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हर तरह से कठोरतम जनसँख्या नियंत्रण कानून बनवाने का आग्रह किया जा चुका है। भारत के वरिष्ठ सन्यासियों व हिन्दुवादी कार्यकर्ताओं  के रक्त से उन्हें चालीस से अधिक पत्र लिखे जा चुके हैं परंतु मोदी ने इस पर बिल्कुल ध्यान नहीँ दिया है। ऐसे में अब आंदोलन के अलावा कोई चारा नहीँ रह गया है।अब कठोरतम जनसँख्या नियंत्रण कानून के लिये बलिदान देने का समय आ चुका है वरना आने वाली पीढ़ियां हमे कभी भी क्षमा नहीँ करेगी।

प्रेस वार्ता में उपस्थित हिन्दू स्वाभिमान की राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्राचीन देवी मंदिर डासना की महन्त यति माँ चेतनानन्द सरस्वती ने कहा कि जिस तरह से भारतवर्ष में हिन्दू जनसँख्या अनुपात घट रहा है और मुस्लिम जनसँख्या अनुपात बढ़ रहा है,वो ये बता रहा है कि केवल अगले दस वर्षों में लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष भारतवर्ष का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा क्योंकि भारतवर्ष केवल तभी तक लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष रह सकता है जब तक यहाँ हिन्दू बाहुल्यता में हैं। एक बार यहाँ मुस्लिम जनसँख्या तीस प्रतिशत हो गयी तो ये देश इराक,सीरिया,मिश्र और पाकिस्तान की तरह गैर मुस्लिमो के कब्रिस्तान में तब्दील हो जाएगा और इसका दोष केवल और केवल हिन्दू नेताओ और हिन्दू धर्मगुरुओं का होगा जो सौ साल भी कौम को आजाद नहीँ रख सके।

उन्होंने यह भी कहा कि आज धर्म के लिये दिया गया बलिदान हमारी आने वाली नस्लो को जीवनदान देगा और अगर हम आज यू ही अकर्मण्य बने रहे तो हमारे बच्चों का हाल इराक के यजीदी,सीरिया और मिश्र के ईसाई,बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिन्दुओ जैसा हो जाना तय है।

प्रेस वार्ता में आचार्य दीपक तेजस्वी, हिन्दू स्वाभिमान के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष बाबा परमेन्द्र आर्य,महामंत्री अनिल यादव,राष्ट्रीय प्रवक्ता पंडित राजीव शर्मा और पंकज त्यागी भी उपस्थित थे।