Latest Sports

जीत कर भी हार गए रवि शास्त्री

मंगलवार शाम को BCCI की सलाहकार समिति ने इस बात कि घोषणा कर दी कि टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री होंगे, लेकिन इस फैसले के साथ कुछ और भी फैसले लिए गए जैसे टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच जहीर खान होंगे और टीम इंडिया जब भी विदेशी दौरे पर जाएगी तो राहुल द्रविड बैटिंग कंसल्टेंट के तौर पर काम करेंगे। इसके साथ-साथ टीम इंडिया में इस वक्त संजय बांगर बैटिंग कोच के तौर पर मौजूद हैं और फील्डिंग कोच के तौर पर श्रीधर टीम के साथ जुड़े हुए हैं।

अब सवाल यह उठता है कि इतने सारे लोगों के बीच रवि शास्त्री की भूमिका क्या होगी? क्या रवि शास्त्री हेड कोच की जगह फिरसे टीम के मैनेजर बन कर रह जाएंगे? क्या सलाहकार समिति ने रवि शास्त्री को अपने लोगों के बीच घेर लिया है? ऐसे में क्या रवि शास्त्री के लिए काम कर पाना आसान होगा? रवि शास्त्री के सामने 2019 वर्ल्ड कप जैसी बड़ी चुनौती है तो क्या इतने लोगों के बीच धीरे होने के बाद रवि शास्त्री खुद फैसले ले पाएंगे और इससे भी अहम सवाल यह है कि विराट की भूमिका ऐसे में क्या होगी?