BJP Indian Politics Latest Politics

‘एफडीआई यूपीए की तुलना में 37.5 फीसदी बढ़ी’ : सुषमा स्वराज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल के 3 साल पुरे होने के बाद से एक-एक करके सभी मंत्री अपने कार्यकाल के तीन साल पुरे होने के उपलक्ष्य में ब्योरा दे रहे हैं. पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ब्योरा दिया अब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने विदेश मंत्रालय के कामों के बारे में बताया।

सुषमा ने कहा, ‘वर्तमान इस सरकार ने परंपरा शुरू की है कि इस सरकार का हर मंत्री हर साल अपने काम का ब्योरा देगा। मैं पहली बार पेश हुई हूं। इस सच्चाई को तो आप स्वीकार करेंगे कि गरीब कल्याण के कारण हमारी सरकार का सम्मान बढ़ा है। विश्व में भी हमारा प्रभुत्व बढ़ा है। पीएम का कद काफी बढ़ा हुआ है। संकट में फंसे हुए भारतीयों की हमने मदद की है। बीते 3 साल में विदेश मंत्रालय ने विदेशों में फंसे 80 हजार भारतीयों को बचाया। हमारे प्रधानमंत्री की इमेल ग्लोबल लेवल पर मजबूत हुई है। एफडीआई यूपीए की तुलना में 37.5 फीसदी बढ़ी है. घरेलू मामलों में विदेश मंत्रालय सक्रिय भूमिका निभा रहा है।

उन्होंने कहा कि, ‘मैंने काम को दो भागों में बांटा। हमारे राजदूत की सक्रियता बेहद तेज हुई है। पीएम की कोशिश रंग लाई। इसमें ऑपरेशन मैत्री शामिल हुई। ये वो आंकड़ा है वो सिर्फ संकट में फंसे लोगों का है। हमने अपने नागरिकों को सहूलियत का ध्यान रखा। पासपोर्ट की सेवाओं में विस्तार और सुधार किया। नियम सरल किए।’

पेरिस जलवायु समझौते पर सुषमा ने कहा कि, ‘क्लाइमेट को लेकर चिंता नहीं है। भारत ने दबाव या भय में पेरिस समझौते पर दस्तखत नहीं किए। मोदी जी ने साफ कर दिया था कि हम पांच हजार साल से पर्यावरण की रक्षा का वचन दिया है। अमेरिका रहे ना रहे हम पेरिस समझौते बने रहेंगे।’

इसके अलावा सुषमा ने अमेरिका और भारत के संबंध पर भी बात की और वीजा के मुद्दे पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि पासपोर्ट प्रक्रिया में सुधार के साथ विस्तार भी किया है.