Latest Politics

लगातार आतंकी हमलों से थर्राया कश्मीर, एक के बाद एक 6 आतंकी हमले

जम्मू-कश्मीर में बीते मंगलवार को एक के बाद एक आतंकी सुरक्षाबलों के कैंप पर हमले से 13 जवान घायल हो गए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी अल उमर मुजाहिदीन और जैश ए मोहम्मद ने ली है। मंगलवार शाम साढ़े छह बजे से शुरू हुआ आतंकी हमला रात साढ़े 11 बजे तक चला। आतंकियों ने अलग-अलग जगह सीआरपीएफ, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के छह ठिकानों को निशाना बनाया जिसमें कई जवान घायल हो गए और अनंतनाग में हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज मुजफ्फऱ हुसैन के दो सुरक्षा गार्ड को गोली मार दी और चार हथियार छीन लिए।
आतंकियों ने सबसे पहले पुलवामा जिले के त्राल में सीआरपीएफ कैंप के अंदर ग्रेनेड फेंका और इस हमले में नौ जवान और एक अफसर घायल हो गए। दूसरा हमला पुलवामा जिले के पडगामपोरा में सीआरपीएफ कैंप पर ग्रेनेड से किया गया, जिसमें किसी नुकसान की खबर नहीं है। तीसरा हमला पुलवामा में रात नौ बजे पुलिस थाने पर हुआ आतंकियों ने पुलिस थाने पर ग्रेनेड फेंका। इसके बाद करीब 15 मिनट तक पुलिस और आतंकियों के बीच फायरिंग होती रही। चौथा हमला पहलगाम के सरनाल में सीआरपीएफ कैंप पर ग्रेनेड से किया गया। हालांकि इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ। पांचवा हमला सोपोर के पाजलपुरा में सेना के कैंप पर ग्रेनेड से किया गया। इस हमले में किसी को नुकसान होने की कोई खबर नहीं आयी। छठा हमला त्राल में सेना के 42 राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर ग्रेनेड से किया गया।

कश्मीर में लगातार हो रहे हमले ने सुरक्षाबलों की चिंता बढ़ा दी है। बता दें कि पहलगाम में अमरनाथ यात्रा का बेस कैंप है जहां यात्रा 29 जून से 40 दिन की अमरनाथ शुरू होगी। आतंकियों द्वारा इस तरह के हमले चिंता का विषय बन गया हालांकि, भारतीय सेना उनके मंसूबे को नाकामयाब कर रही है।