BJP Congress Indian Politics Latest Politics Politics

नीतीश कुमार ने दिया लालू यादव को एक और “झटका”

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर महागठबंधन को ठेंगा दिखाते हुए, बिहार की राजनीति को एक अहम पड़ाव पर लेकर खड़ा कर दिया है। दरअसल, राष्ट्रपति चुनवा में नीतीश कुमार द्वारा NDA उम्मीदवार का समर्थन करने के ऐलान के बाद अब उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर भी महागठबंधन से लगभग दूरी बनाना शुरू कर दिया है। यही कारण है कि नीतीश कुमार मंगलवार को होने वाली ग़ैर-एनडीए दलों की बैठक में नीतीश भाग नहीं लेंगे।

आपको बता दें कि, 11 जूलाई को ही जदयू ने अपने विधायकों और सांसदों की पटना में बैठक बुलाई है। जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि 11 जुलाई की बैठक पहले से निर्धारित हैं। इस बैठक में सभी जिला अध्यक्ष, पदाधिकारी और प्रकोष्ठ, मोर्चा के सदस्य शामिल होंगे। इस बैठक की अध्यक्षता स्वयं नीतीश कुमार करेंगे। बैठक में बिहार और देश के ताजा हालत पर चर्चा होने की संभावना है। हालांकि उपराष्ट्रपति के लिए होने वाली बैठक में जदयू की ओर से किसी वरिष्ठ नेता के भाग लेने की संभावना है।

बिहार के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम से इस बात के कयास लगाए जाने लगे हैं कि नीतीश कुमार वापस बीजेपी के साथ जा सकते हैं, जिससे उन्होंने नरेंद्र मोदी की पीएम उम्मीदवारी के विरोध में पीछे हट गए थे। इस बीच लालू यादव पर करप्शन के आरोप और उन पर सीबीआई एवं ईडी की कार्रवाई के बाद जेडीयू-आरजेडी-कांग्रेस का महागठबंधन खतरे में दिखने लगा है।