BJP Congress Latest Politics State

जीएसटी लॉन्च के लिए आयोजित समारोह का बहिष्कार कर सकता है विपक्ष

मोदी सरकार 1 जुलाई को जीएसटी लागु करने की भव्य तैयारियां कर रहा है तो उधर विपक्ष सरकार के फैसले पर पानी फेरने की फ़िराक में हैं। दरसअल, 30 जून की रात जीएसटी लॉन्च के लिए संसद में एक विशेष बैठक बुलाई गई है जहां भव्य तरीके से जीएसटी को लागु किया जायेगा। अब खबर ये आ रही है कि विपक्ष इसका बहिष्कार कर सकता है। इसे लेकर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि, ‘कांग्रेस इस पर विचार कर रही है कि आयोजन में हिस्सा ले या नहीं। उन्होंने कहा कि उसने अपने हिस्सा लेने को लेकर सरकार को कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया गया है। कांग्रेस के प्रवक्ता के इस बयान से तो साफ़ है कि आने वाले दो या तीन दिनों में कांग्रेस इस बैठक में अपनी उपस्थिति साफ़ कर देगा।’

दरअसल, विपक्ष का जीएसटी को लेकर कहना है कि, जीएसटी से शुरुआती कुछ महीनों तक देश में कारोबार करना आसन नहीं होगा। जीएसटी एंटी ट्रेडर्स है और इससे व्यापर खत्म हो जाएगा। विपक्ष का मन्ना है कि टैक्स की नई व्यवस्था को इतनी जल्दी लागू कर पाना कई कंपनियों के लिए वाजिब नहीं है। इसके लागू हो जाने के बाद अचानक से होने वाले बदलावों से व्यापार पर असर पड़ेगा और साथ ही नौकरियों में कमी आएगी।
आपको बता दें कि, वित्त मंत्री ने बताया था कि संसंद के विशेष सत्र के बाद 30 जून की शाम को इसे आधिकारिक तौर पर लॉन्च किया जाएगा। इसके लागु होने से होने वाले बदलावों को लेकर जब वित्त मंत्री से एक साक्षात्कार में जीएसटी के लागू किये जाने की तारीख में को लेकर सवाल किये गए तो उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि जीएसटी 1 जुलाई को ही लागू की जायेगा और इसमें कोई बदलाव नहीं किया जायेगा।

अब देखना ये होगा कि, विपक्ष जीएसटी के लॉन्च के लिए आयोजित समारोह का हिस्सा बनता है या नहीं।