Latest Viral World

इस ख़ासियत की वजह से छोटा देश होने के बाद भी इस्राइल से डरते हैं बड़े बड़े देश….

इस्राइल, दुनिया का सबसे स्वाभिमानी और खतरनाक देश है। दुनिया के सबसे छोटे व नए राष्ट्रों में से एक है, जो चारों तरफ से दुश्मन देशों से गिरा हुआ है और दुश्मन देश भी ऐसे हैं जो इज़राइल (Israel) को किसी भी तरीके से खत्म कर देना चाहते हैं, लेकिन फिर भी इजराइल से उसके शत्रु देश घबराते है, इजराइल नहीं। खुद इज़राइल के शत्रु देशों का कहना है की इज़राइल अपने दुश्मनों को उनके ही घर में घुस कर मारने की फ़िराक में रहता है! इज़राइल का ये रुतबा अगर कायम हो पाया है तो इज़राइल के स्वाभिमानी और देशभक्त लोगों की वजह से।

इजरायल दुनिया का अकेला यहूदी राष्ट्र है। हिब्रू और अरबी इजरायल की आधिकारिक भाषा है।

इजरायल दुनिया का एकमात्र ऐसा मुल्क है, जहां महिलाओं को अनिवार्य रूप से सैन्य सेवा में काम करना होता है।

इजरायल दुनिया में उन 9 देशों में शामिल है, जिसके पास अपना सेटेलाइट सिस्टम है। जिसके इस्तेमाल से वो ड्रोन चलाता है। इ

इजरायल की वायुसेना दुनिया में चौथे नंबर की वायुसेना है। ये किसी भी हमले की सूरत में किसी भी दुश्मन को पल भल में तहस नहस करने की क्षमता रखते हैं।

इजरायल दुनिया का इकलौता ऐसा देश है, जो एंटी बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम से लैस है। इजरायल के किसी भी हिस्से में रॉकेट दागने का मतलब है मौत। यानी इजरायल की ओर जाने वाला हर मिसाइल रास्ते में ही दम तोड़ देता है।

इजरायल घरेलू कंप्यूटर उपयोग के मामले में दुनिया में पहले नंबर पर है। दुनिया में पहला फोन मोटोरोला कंपनी ने इजरायल में ही बनाया था और माइक्रोसॉफ्ट के लिए पहला पेंटियम चिप इजरायल में ही बना था। यही नहीं, पहली वॉइस मेल तकनीक इजरायल में ही विकसित की गई थी।

इजरायल अपने जन्म से अब तक 7 लड़ाइयां लड़ चुका है। जिसमें अधिकतम में उसने जीत हासिल की है।

इजरायल के सभी स्टूडेंट्स, चाहे वह लड़का हो या लड़की, को हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद अनिवार्य रूप से मिलिट्री सर्विस जॉइन करनी पड़ती है. इस सर्विस की अवधि लड़कों के लिए तीन साल और लड़कियों के लिए 2 साल होती है।

इजराइल कभी किसी देश या संगठन को यह नहीं कहता कि हमारे देश में आंतकवादी घटनाये या हमला मत कीजिये बल्कि इजराइल कहता है अगर किसी ने हमारे देश के एक नागरिक को मारा तो हम उस देश में घुस कर के उसके 1000 नागरिकों को मार देंगे।

अगर आप इजराइल के दुश्मन हो और आप मुस्लिम हो तो आपका इस दुनिया में कही भी जिन्दा रह पाना मुश्किल ही नहीं नामुनकिन है।

दुनिया में पहला एंटीवायरस सबसे पहले सन 1979 में इजरायल में बना। माइक्रोसॉफ्ट और सिस्को ने अमेरिका के बाहर अपने रिसर्च सेंटर सिर्फ इजरायल में ही बनाए।

आपको जानकर हैरानी होगी कि हर पाकिस्तानी पासपोर्ट पर लिखा होता है कि यह पासपोर्ट इजरायल को छोड़कर दुनिया के सभी देशो में मान्य है।

इजरायल अपनी जरुरत का 93 प्रतिशत खाद्य पदार्थ खुद पैदा करता है। खाद्यान्न के मामले में इजरायल लगभग आत्मनिर्भर है।

दुनिया की सबसे छोटी बाइबल इजरायल में तैयार हुई है, जो 4.76 मिलीमीटर लंबी और चौड़ी है।

इजरायल के 10 में से 9 घर सोलर एनर्जी का इस्तेमाल करते हैं। सबसे ज्यादा सोलर एनर्जी का इस्तेमाल पानी गर्म करने में होता है।

शिक्षा की बात करें तो जनसंख्या के हिसाब से सर्वाधिक विश्वविद्यालय इजरायल में है। यहां प्रति 10 हजार की आबादी में 109 रिसर्च पेपर प्रकाशित होते हैं। जो दुनिया में सर्वाधिक है। यहां किताबों के मामले में प्रति व्यक्ति के हिसाब से सर्वाधिक किताबें छपती हैं।

इजरायल हीरों की होल सेल व्यवसाय का केंद्र है। यहां दुनिया के किसी भी देश की तुलना में सर्वाधिक हीरों की कटिंग और पोलिशिंग होती है।

इजरायल व्यावसायिक दृष्टि से दुनिया में तीसरे स्थान पर है। इजरायल में 3000 से अधिक हाई-टेक कंपनी हैं, जो दुनिया में सबसे ज्यादा है।

इजरायल दुनिया में सर्वाधिक शरणार्थियों को आश्रय देने वाला देश है। दुनिया भर के यहूदियों को जन्म लेते ही इजरायल की नागरिकता मिल जाती है। जो जब चाहें वहां बस सकते हैं।

कई मुस्लिम देश इसके दुश्मन है इसकी वजह से इजराइल अब तक 7 बड़े युद्ध लड़ चूका है और हर बार जीता |