Latest Politics World

ईरान ने अप्रत्यक्ष तौर पर भारत को कहा, ‘उत्पीड़क’ और ‘तानाशाह’

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनी ने ईद-उल-फितर ने ईद के मौके पर कश्मीर का राग अलाप करते हुए अप्रत्यक्ष तौर पर भारत को ‘उत्पीड़क और तानाशाह’ कहा है। खामेनी ने ट्वीट करते हुए दुनियाभर के मुसलमानों से ‘शोषकों’ और ‘तानाशाहों’ के खिलाफ कश्मीरी जनता का साथ देने की अपील की है। खामेनी ने सोमवार को ट्वीट करके लिखा, ‘मुस्लिम देशों को बहरीन, कश्मीर, यमन जैसे देशों और वहां रहने वाले लोगों का खुलकर समर्थन करना चाहिए और उन्हें शोषकों से अलग-थलग कर देना चाहिए जिन्होंने रमजान के दौरान लोगों पर हमला किया।’

इस तरह खामेनेई द्वारा कश्मीर को लेकर बयान देकर भारत को ही मुसलमानों का दुश्मन नहीं कहा बल्कि सऊदी अरब और सुन्नी अरब को भी एक पंक्ति में रखा। सभी मुस्लिम देशों को मिलकर कश्मीर समेत फिलिस्तीन और बहरीन को आजाद करवाने की अपील की। खामेनी ने आगे लिखा, ‘फिलिस्तीन मुस्लिम आबादी का सबसे अहम मसला है। इस्लामिक न्याय कहता है कि जब एक दुश्मन मुसलमानों की जमीन पर अपना कब्जा कर लें, तो जिहाद करना सबका धर्म है। बहरीन, यमन और मुस्लिम देशों में उठने वाले इस तरह के मामले पूरे इस्लामिक निकाय को घाव पहुंचाते हैं।’

बता दें कि, ईरान और भारत के बीच पारंपरिक रिश्ते काफी अच्छे रहे हैं। ऐसे में ईरान का भारत को ‘उत्पीड़क’ कहना दोनों के बीच तनाव का कारण बन सकता है।