Business Latest

यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चरल साइंस ने प्लास्टिक के चावल की खबर को बताया झूठ

देश के कई राज्यों से शिकायत आ रही थी कि बाजार में प्लास्टिक के चावलों की सप्लाई की जा रही है। जिसे यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चरल साइंस ने अपनी टेस्ट रिपोर्ट में झूठा करार दिया है।

दरअसल, कई दिनों से सोशल मीडिया पर खबरें आ रही थी कि तेलंगना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और उत्तराखंड सहित कई राज्यों में प्लास्टिक के चावल की बिक्री हो रही है। वहीं राईस संगठन मिल ने कहा कि समान्य तौर पर 40-50 रुपये किलो बिकने चावल को अगर प्लास्टिक के बनाकर बेचें तो उसकी कीमत 200 रुपये किलो पड़ेगी, तो ऐसे कोई क्यों चावल को चार गुना घाटा सहकर ये चावल बेचेगा ? वहीं इस मामले में एग्रीकल्चरल साइंस ने कई सैम्पल्स की जांच के बाद कहा कि बाजार में सही चावल ही उपलब्ध है। प्लास्टिक के चावल की खबर महज़ अफवाह है।