BJP Latest Politics Politics

मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात के बाद मंत्री राजभर ने टाला अपना धरना

उत्तर प्रदेश सरकार नाराज़ होकर धरना देने की चेतवानी देने वाले प्रदेश सरकार के दिव्यांग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर को आख़िरकार मना लिया गया है, साथ ही राजभर ने अब धरना देने का इरादा भी टाल दिया है।

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाक़ात के बाद मीडिया से बात करते हुए, राजभर ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथा से उनकी लगभग 35 मिनट तक बात हुई जिसमें 19 में से 17 कार्यों को तत्काल किये जाने के आदेश दिये गये जबकि दो में कार्रवाई शुरु हो गयी है। उनका कहना था कि जिलाधिकारी संजय खत्री को हटाने के भी संकेत दिये गये हैं।

राजभर ने कहा था “मैंने इस सम्बन्ध में 25 जून को भाजपा के प्रदेश महासचिव (संगठन) सुनील बंसल से मुुलाकात की थी। श्री बंसल ने मुख्यमंत्री से मिलने की सलाह दी। 27 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर उन्हें एक-एक चीज की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने उन्हें गौर से सुना, लेकिन गाजीपुर के प्रभारी मंत्री बृजेश पाठक से मिलने के लिए कहा। बृजेश पाठक से मिलकर सिलसिलेवार पूरा ब्यौरा दिया, लेकिन अभी तक कुछ भी नहीं हुआ। ”

गाजीपुर के ही जहूराबाद क्षेत्र से विधायक राजभर ने कहा था कि उन्हें ताज्जुब हो रहा है कि जनहित के 19 कामों के लिए जिलाधिकारी से कहा गया, लेकिन एक भी काम नहीं हुआ।

आपको बता दें कि राजभर ने आरोप लगाया था कि, जिलाधिकारी भ्रष्टाचार को बढावा दे रहे हैं और बार-बार कहते हैं कि जब उनका समाजवादी पार्टी सरकार में कुछ नहीं हुआ तो इसमें लाेग क्या कर पायेंगे। उनका कहना था कि जिलाधिकारी को कहीं से राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है इसीलिये वह जनभावनाओं का लगातार निरादर कर रहे हैं।