Bollywood Latest Video

VIDEO: तो हिंदुस्तान में यहाँ है ‘बाहुबली” की असली रियासत

जिस “महिष्मति” साम्राज्य की कहानी ने फ़िल्म बाहुबली को सुपर – डुपर हिट कर दिया। जिस “महिष्मति” साम्राज्य की कहानी आज बच्चे – बच्चे की ज़ुबान पर है क्या आप जानते हैं वो “महिष्मति” साम्राज्य हमारे इतिहास की गाथा है? जी हाँ जिस “महिष्मति” साम्राज्य की कहानी को बड़े परदे पर देखने के बाद अब तक आप काल्पनिक समझ रहे थे वो वास्तविक साम्राज्य है जो फ़िलहाल इतिहास ही धुंध खाते पन्नों में दफ़न है।

दरअसल, भारत का इतिहास बताता है कि, फिल्म में ली गयी रियासत उस वक़्त के चेदि जनपद की राजधानी ‘माहिष्मति’ हुआ करती थी। जो नर्मदा के तट पर स्थित थी। आज इसे ‘महेश्वर’ के नाम से जाना जाता है जो मध्य प्रदेश के इंदौर में एक छोटा और ऐतिहासिक गॉव है। जो पश्चिम रेलवे के अजमेर-खंडवा मार्ग पर बड़वाहा स्टेशन से 35 मील दूर है।

कहा जाता है कि “महिष्मति” रियासत पर राजा नील का राज्य था, जिसे सहदेव ने महाभारत के युद्ध में परास्त किया था। राजा नील महाभारत के युद्ध में कौरवों की ओर से लड़ता हुआ मारा गया था। इसके अलावा बौद्ध साहित्य में माहिष्मति को दक्षिण अवंति जनपद का मुख्य नगर बताया गया है। बुद्ध काल में यह नगरी समृद्धिशाली थी तथा व्यापारिक केंद्र के रूप में विख्यात थी। इसके बाद उज्जयिनी की प्रतिष्ठा बढ़ने के साथ-साथ इस नगरी का गौरव कम होता गया। फिर भी गुप्त काल में 5वीं सदी तक माहिष्मती का बराबर उल्लेख मिलता है। कालिदास ने ‘रघुवंश’ में इंदुमती के स्वयंवर के प्रसंग में नर्मदा तट पर स्थित माहिष्मती का वर्णन किया है और यहाँ के राजा का नाम ‘प्रतीप’ बताया है। इस उल्लेख में माहिष्मती नगरी के परकोटे के नीचे कांची या मेखला की भाति सुशोभित नर्मदा का सुंदर वर्णन है।

यहाँ देखें वीडियो :-